लखनऊ: उत्तर प्रदेश असेंबली चुनाव से पहले ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asadddin Owaisi) और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) हाथ मिला सकते हैं. बुधवार को दोनों नेताओं ने लखनऊ में मुलाकात की.
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में 5 विधायकों की जीत के बाद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी एमआईएम (AIMIM) के हौसले बुलंद हैं. अब पार्टी ने अपनी निगाहें 2022 में उत्‍तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव पर गड़ा दी हैं. सियासी जमीन और गठबंधन की तलाश में असदुद्दीन ओवैसी बुधवार को लखनऊ पहुंचे और ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) से मुलाकात की. ओमप्रकाश राजभर के बाद उन्‍होंने पीस पार्टी के नेता अब्दुल मन्नान से भी मुलाकात की. अब्दुल मन्नान ने पीस पार्टी छोड़कर ओवैसी की पार्टी ज्वाइन किया है.
असदुद्दीन ओवैसी ने सामाजवादी प्रगतिशील पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल की भी तारीफ करते हुए कहा कि बड़े नेता हैं और उनसे भी बातचीत हो रही है. बता दें कि शिवपाल यादव ने भी हाल ही में असदुद्दीन ओवैसी की तारीफ करते हुए धर्मनिरपेक्ष नेता बताया था. ऐसे में माना जा रहा है कि असदुद्दीन ओवैसी 2022 चुनाव में छोटे दलों के मजबूत गठबंधन बनाकर चुनावी मैदान में उतर सकते हैं.
ममता बनर्जी पर टिप्पणी करते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने बंगाल की सीएम को एक सलाह दे डाली. उन्‍होंने कहा कि वह बिहार के लोगों की तौहीन न करें और यह भी देखें कि उनकी पार्टी के लोग पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. उन्हें इसके बारे में सोचना चाहिए.
सीएम योगी को नसीहत
ओवैसी ने कहा कि हैदराबाद में कहावत है गरीब की जोरू सबकी भाभी होती है. उन्होंने कहा कि हम बिहार में 20 सीट पर लड़े और जीते. बाकी सीटों पर वोट जोड़ दिया जाए तो बीजेपी को ज्यादा वोट पड़े. हमारी पार्टी ने कोई वोट नहीं काटा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निकाय चुनाव में प्रचार के दौरान हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर करने की बात कही थी. इस पर ओवैसी ने कहा हम उत्तर प्रदेश में किसी भी चीज का नाम नहीं बदलेंगे. ओवैसी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ और अमित शाह जिस वार्ड में भी प्रचार करने गए वहां पर बीजेपी हारी है.
उत्तर प्रदेश के मैदान में उतरेगी AAP भी
वहीं, यूपी में 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव भले भी अभी दूर हों लेकिन आम आदमी पार्टी ने भी पूरी ताकत के साथ इन चुनावों में हिस्सा लेने की बात कही है. दिल्ली के चीफ मिनिस्टर और आम आम आदमी पार्टी को चीफ अरविंद केजरीवाल ने कहा,’आम आदमी पार्टी यूपी में 2022 का असेंबली का चुनाव लड़ेगी. राज्य की राजनीति में सही और साफ नीयत की कमी है. आम आदमी पार्टी प्रदेश में इस कमी को पूरा करेगी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here