नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का संकट लगातार बढ़ता ही जा रहा है. अब कोरोना संकट को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं. ऐसे में सरकार की अगली रणनीति क्या होगी? पीएम नरेंद्र मोदी 16 और 17 जून को देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग मंथन करने जा रहे हैं। माना जा रहा है कि इस दौरान कोरोना के खिलाफ कोई नई रणनीति पर विचार हो सकता है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 और 17 जून को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत करेंगे। PM 16 जून को ऐसे 21 राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से बात करेंगे जहां कोरोना केसों की संख्या अब तक काफी कम है। ये राज्य हैं पंजाब, असम, केरल, खंड, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़, त्रिपुरा, हिमाचल, चंडीगढ़, गोवा, मणिपुर, नागालैंड, लद्दाख, पुदुचेरी, अरुणाचल, मेघालय मिजोरम, A&N द्वीप, दादरा नगर हवेली और दमन दीव, लक्षद्वीप और सिक्किम।
इसके बाद पीएम मोदी 17 जून को उन 15 राज्यों/ केंद्रशासित प्रदेशों के CMs के साथ बातचीत करेंगे जहां कोरोना बेकाबू होता जा रहा है या संक्रमण तेजी से पैर पसारने लगा है। ये राज्य हैं- महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, बिहार, आंध्र प्रदेश, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, तेलंगाना और ओडिशा।

राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे पीएम मोदी


इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 मई भी सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बातचीत कर चुके हैं। 12 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में ‘जन से जग’ का नारा देते हुए आर्थिक गतिविधियां शुरू करने पर जोर दिया था। उन्होंने राज्यों से संक्रमण गांवों तक न पहुंचने देने की रणनीति बनाने का आग्रह भी किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here