हाईलाइट
• ICMT टीम को स्थानीय स्तर पर जाने नहीं दिया जा रहाः MHA
• मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने किया टीमों को भेजने का विरोध

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने राज्य में लॉकडाउन उल्लंघन की शिकायतों की जांच के लिए आईएमसीटी (इंटर मिनिस्ट्रीयल सेंट्रल टीम) को भेजा है, मगर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी टीम को प्रभावित इलाकों में नहीं जाने दे रही हैं। टीम लीडर और केंद्र सरकार में वरिष्ठ अधिकारी अपूर्व चंद्रा ने कहा कि केंद्र ने आईएमसीटी मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान जैसे राज्यों में भी भेजी है यहां उन्हें राज्य सरकारों का पूरा सहयोग मिल रहा है।

केंद्रीय गृहमंत्रालय ने कहा, ‘राज्य राज्यों में केंद्रीय टीमों को तैनात किया गया है। राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में राज्य सरकारों का पूरा सहयोग मिल रहा है। लेकिन गृहमंत्रालय को बताया गया है कि पश्चिम बंगाल में जो टीमें कोलकाता और जलपाईगुड़ी गई हैं उन्हें राज्य सरकार और प्रशासन का सहयोग नहीं मिल रहा है। उन्हें क्षेत्रों में जाने से रोका जा रहा है, स्वास्थ्य कर्मियों से बात नहीं करने दिया जा रहा है। उन्हें जमीनी स्थिति का आंकलन नहीं करने दिया जा रहा है।’

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को पत्र लिखकर कहा कि मंत्रालय के ध्यान में लाया गया है कि कोलकाता और जलपाईगुड़ी में इंटर-मिनिस्ट्रीयल सेंट्रल टीमों के लिए राज्य और स्थानीय प्रशासन की ओर से जरूरी सहयोग नहीं किया गया। इन टीमों को क्षेत्रों का दौरा करने, स्वास्थ्यकर्मियों से मिलने और जमीनी स्तर को जानने से रोका गया।

ममता का विरोध                                  

ममता ने टीमों को बंगाल भेजे जाने पर आपत्ति जताते हुए कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से राज्य के इन जिलों को चुने जाने का आधार पूछती हूं। मुझे यह कहते हुए अफसोस हो रहा है कि बिना किसी स्पष्ट कारण के मैं इसकी अनुमति नहीं दे पाऊंगी, क्योंकि यह संघ की भावना के खिलाफ है।’

वहीं ममता बनर्जी के भतीजे और सांसद अभिषेक बनर्जी ने भी इस मामले पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्‍होंने ट्वीट में कहा, ‘पहले आप पश्चिम बंगाल सरकार को खराब कोविड 19 टेस्‍ट किट भेजकर लाचार करते हैं फिर राज्‍य सरकार को अंधकार में रखते हुए उसके परफॉर्मेंस के आकलन के लिए केंद्रीय दल भेजते हैं. कोविड 19 से जंग लड़ने के नाम पर आप पश्चिम बंगाल के लोगों की जिंदगियों के साथ खेल रहे हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here