नई दिल्ली. चीन के साथ सीमा पर तनाव के बीच के बीच केंद्र सरकार ने सुरक्षा और निजता का हवाला देते हुए बड़ा कदम उठाया है. सूचना और प्रोद्योगिकी मंत्रालय ने लोकप्रिय चाइनीज ऐप टिकटॉक (TikTok), शेयरइट और वीचैट समेत कुल 59 चीनी ऐप्स पर बैन लगा दिया है. सरकार की ओर से बैन लगाने का ऐलान करते हुए कहा गया कि डेटा सुरक्षा से जुड़े पहलुओं और 130 करोड़ से ज्यादा भारतीयों की गोपनीयता की सुरक्षा को लेकर चिंताएं बढ़ गई थीं.

TikTok भारत में सबसे ज्‍यादा डाउनलोड की जाने वाली ऐप है. इसके 12 करोड़ से भी ज्‍यादा ऐक्टिव यूजर्स थे. यह उन इलाकों में युवाओं के बीच खासी लोकप्रिय थी जो आमतौर पर आधुनिक सुविधाओं से अछूते हैं. TikTok पर मौजूद 30% वीडियो भारतीय यूजर्स बनाते हैं.
क्या होगा असर?
TikTok के अलावा Helo और Likee जैसे सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स खासे मशहूर हैं. Bigo Live उन यूजर्स के बीच पॉपुलर हैं जो अंग्रेजी में कम्‍फर्टेबल नहीं हैं. जब ये यूजर्स अचानक से चीनी ऐप्‍स यूज करना बंद कर देंगे तो उन्हें रेवेन्‍य का अच्‍छा-खासा नुकसान होगा. अधिकतर ऐप्‍स कमाई के लिए यूजर्स को बीच-बीच में ऐड दिखाती हैं. अगर बड़ा यूजरबेस ही गायब हो जाए तो ऐड से आने वाली रेवेन्‍यू पर हिट होगा.

ये ऐप भले ही चीनी हों, लेकिन इनसे भारतीय लोगों का रोजगार भी चलता है. ज्यादतार ऐप के भारत में ऑफिस हैं और बड़ी संख्या में वहां लोगों को रोजगार मिला है. ऐसे में जबकि कोरोना संकट काल में देश बेरोजगारी की समस्या से पहले ही जूझ रहा है, वैसे में इन ऐप कंपनी से जुड़े लोगों की नौकरी पर भी संकट के बादल छा गए हैं.

59 ऐप बैन होने का भारतीय यूजर्स पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा. क्योंकि इनमें सभी तरह के ऐप शामिल हैं. कुछ ऐप लोगों के एंटरटेनमेंट के लिए हैं तो कुछ का इस्तेमाल प्रोफेशनल लेवल भी किया जाता है. कुछ ऐप ऐसे भी हैं जो आपका काम आसान बनाते हैं. टिकटॉक के फिलहाल 100 मिलियन एक्टिव यूजर्स हैं. साथ ही Helo, Like जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी बड़ी तादाद में भारतीय यूजर्स हैं.

टिकटॉक की भारत से इतनी है कमाई

बाइटडांस ने साल 2018 में Musical.ly को भी खरीद लिया है. टिकटॉक ने अक्टूबर से दिसंबर 2019 तक की तिमाही में भारत में 25 करोड़ रुपये की कमाई की थी. ऐप पर विज्ञापनों के जरिए कंपनी की कमाई लगातार बढ़ रही थी. कंपनी ने इस साल 100 करोड़ रुपये कमाई करने का लक्ष्य रखा था.

बता दें कि सोमवार को ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की विदेश मंत्री एस जयशंकर और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल के साथ बैठक हुई थी. बैठक के कुछ ही देर बाद इन चाइनीज ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here