लखनऊ: कोरोना वायरस (कोविड-19) के फैलाव को रोकने के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन जारी है। लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों की घर वापसी भी तेज है। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा कि दूसरे प्रदेशों में फंसे श्रमिकों की घर वापसी हमारी प्रतिबद्धता है। यह सिलसिला मार्च के अंतिम हफ्ते से ही जारी है और सभी श्रमिकों की घर वापसी तक यह जारी रहेगा।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसके साथ ही सभी राज्यों से उनके जिला अनुसार प्रदेश के प्रवासी श्रमिकों तथा कामगारों की सूची मांगी है, जिससे कि कोई दूसरे प्रदेश में ही न रह जाए। प्रदेश में अब तक अन्य राज्यों से सात लाख से अधिक यूपी के प्रवासी कामगार/श्रमिकों की वापसी हो चुकी है। प्रदेश सरकार हर प्रवासी कामगार/श्रमिक को वापस लाना चाहती है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हर श्रमिक की दक्षता का आने वाले समय में प्रदेश की बेहतरी में उपयोग हो इसके लिए हम उसकी दक्षता का ब्यौरा पता और मोबाइल नंबर के साथ उपलब्ध करवा रहे हैं। इन सबको उनकी दक्षता के अनुसार स्थानीय स्तर पर हम रोजगार भी उपलब्ध कराएंगे। इसके लिए हमारी कार्ययोजना बनकर लगभग तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here