गाजियाबाद : गाजियाबाद के पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या मामले में अब राजनीति तेज हो गई है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी से लेकर बीएसपी सुप्रीमो मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत तमाम विपक्षी दलों के नेताओं ने योगी सरकार को निशाने पर लिया है.

अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ की शिकायत करने पर गाजियाबाद में एक पत्रकार की गोली मार कर हत्या दी गई. इस मामले ने यूपी की कानून-व्यवस्था को फिर कटघरे में खड़ा कर दिया. पुलिस की नाकामी पर परिवार ने गुस्सा जाहिर किया है और आरोपियों के एनकाउंटर की मांग की है. पुलिस अब तक 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है जिनमें दो मुख्य आरोपी भी शामिल हैं। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है.

पत्रकार की मौत पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर योगी सरकार का घेरा किया. उन्होंने कहा, ‘अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध करने पर पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या कर दी गई. शोकग्रस्त परिवार को मेरी सांत्वना। वादा था राम राज का, दे दिया गुंडाराज.

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने भी प्रदेश सरकार के घेराव करते हुए लिखा, ‘पूरे यूपी में हत्या व महिला असुरक्षा सहित जिस तरह से हर प्रकार के गंभीर अपराधों की बाढ़ लगातार जारी है, उससे स्पष्ट है कि यूपी में कानून का नहीं, बल्कि जंगलराज चल रहा है. यूपी में कोरोना वायरस से ज्यादा अपराधियों का क्राइम वायरस हावी है. जनता त्रस्त है. सरकार इस ओर ध्यान दे.’

ममता ने योगी सरकार पर साधा निशाना

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ‘एक निडर पत्रकार विक्रम जोशी के परिवार के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना. अपनी भतीजी से छेड़छाड़ करने वालों पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए उन्हें यूपी में गोली मार दी गई थी. देश में भय का माहौल हो गया है. आवाजों को दबाया जा रहा है. मीडिया को नहीं बख्शा जा रहा है.’

अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर पूछा कि भाजपा सरकार स्पष्ट करे कि क़ानून-व्यवस्था की धज्जियाँ उड़ानेवाले इन अपराधियों-बदमाशों के हौसले किसके बलबूते पर फल-फूल रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here