शाहीन बाग: दिल्ली के शाहीन बाग में बुधवार को सुरक्षाबलों और पुलिस वालों की काफी हलचल देखने को मिली थी. इसके पीछे शाहीन बाग में एक बार फिर से प्रदर्शन शुरू होने की आशंका जताई जा रही है.दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर देवेश चन्द्र श्रीवास्तव, डीसीपी आरपी मीणा, एडिशनल डीसीपी कुमार ज्ञानेश और ढाल सिंह ने बुधवार को मौके का जायजा लिया और अब यहां पुलिस की तैनाती की गई है.
ये पूरा मामला बुधवार का है. आज इलाके में शांति थी. शाहीन बाग में बाजार खुले रहे. सामान्य रूप से जनजीवन चलता रहा. पुलिस बल की संख्या भी कल के मुकाबले आज कम कर दी गई. अभी तक शाहीन बाग में प्रदर्शन की बात सोशल मीडिया के जरिये फैली अफवाह ही दिख रही.
शाहीन बाग में रहने वाले लोगों से जब बात की तो उन्होंने कहा कि प्रदर्शन की बात बस अफवाह है. हमें अपनी जान प्यारी है कोरोना के खतरे के बीच हम प्रदर्शन क्यों करेंगे. ये बस कुछ लोगों की खुराफात है.
भारी पुलिस बल तैनात
बहरहाल, शाहीन बाग, जामिया गेट और सुखदेव विहार मेट्रो स्टेशन के पास भारी पुलिस बल तैनात है. दिल्ली पुलिस की सोशल मीडिया पर भी पैनी नजर है. वहीं दिल्ली के सभी जिलों के डीसीपी को कहा गया है कि अपने-अपने जिले में कानून व्यवस्था के इंतजामों को लेकर अत्यंत सतर्क रहें और सुरक्षा बलों को स्टैंड बाय मोड में रखे. एहतियात के तौर पर पैरामिलिट्री फोर्स की कुछ कंपनियों को भी दिल्ली के कुछ थानों में रुकवाया गया है.
बता दें कि 15 दिसंबर को शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून, एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ धरना शुरू हुआ था जो लंबा चला. लेकिन जब देश में कोरोना का संकट हुआ तो लोग धरना स्थल से हटे. उससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने तीन वार्ताकर नियुक्त कर धरना खत्म कराने की कोशिश की थी, लेकिन यह मुमकिन नहीं हो सका.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here