नई दिल्ली: ब्रिस्बेन टेस्ट के चौथे दिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की कमर तोड़ने वाले इंडियन टीम के तेज गेंदबाजमोहम्मद सिराज ने मैच के बाद अपने पिता को याद किया. उन्होंने इस शानदार प्रदर्शन का श्रेय अपनी मां को भी दिया.
मैच के चौथे दिन पांच विकेट अपने नाम करने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मोहम्मद सिराज ने कहा, “निश्चित रूप से मेरे इस प्रदर्शन का श्रेय मेरी मां को भी जाता है. उन्होंने कहा, “पिता के निधन के बाद मेरी मां ने मुझे अच्छे प्रदर्शन के लिए लगातार प्रेरित किया.” उन्होंने अपने पिता को याद करते हुए कहा, “आज वो जिंदा होते तो मुझपर गर्व करते. उनकी दुआओं की वजह से ही आज अपना बेस्ट परफॉर्मेंस दे पाया हूं.”
टीम इंडिया ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी लगातार तीसरी बार अपने नाम कर ली है. ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से धूल चटाते हुए टेस्ट सीरीज 2-1 से जीत ली है. इस जीत के हीरो ऋषभ पंत से लेकर शुभमन गिल तक रहे, लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा मोहम्मद सिराज की है.
बुमराह ने लगाया सिराज को गले
मोहम्मद सिराज ने जोश हेजलवुड का विकेट लेकर अपने पांच विकेट पूरे किये. इसके साथ ही पूरा गाबा मैदान और टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी उन्हें सलाम करने लगे. सिराज ने मैदान से बाहर जाते हुए टीम इंडिया का नेतृत्व किया और बाउंड्री पार करते ही उन्हें तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) ने गले लगा लिया. बुमराह का सिराज को गले लगाना बहुत महत्व रखता है क्योंकि ये दोनों ही गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया में नस्लीय टिप्पणियों के शिकार हुए थे. बुमराह की गैरमौजूदगी में सिराज ही टीम इंडिया के बॉलिंग अटैक को लीड कर रहे थे और उन्होंने पांच विकेट लेकर खुद को साबित भी किया.


मोहम्मद सिराज के लिए ऑस्ट्रेलिया दौरा कतई आसान नहीं रहा. दौरे का पहला मैच होने से पहले ही उन्होंने अपने पिता को खो दिया लेकिन इसके बावजूद उन्होंने टीम के साथ बने रहने का फैसला किया. इसके बाद सिराज को टेस्ट डेब्यू का मौका मिला लेकिन सिडनी में उनपर नस्लीय टिप्पणियां हुई. हालांकि इसके बावजूद सिराज का ध्यान नहीं भटका और उन्होंने ब्रिसबेन में दिखाया कि बतौर गेंदबाज उनका कद कितना ऊंचा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here