यूपी का कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे उज्जैन से गिरफ्तार हो गया है. वह उज्जैन के माता मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचा था. पुलिस कस्टडी में भी नहीं गई हेकड़ी… चिल्लाकर बोला, ‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला…’ विकास दुबे के उज्जैन के महाकाल मंदिर में होने की सूचना पर पुलिस पहुंची. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस उसे पकड़कर गाड़ी तक लाई. इस दौरान पुलिस ने उसे गर्दन के पिछले हिस्से, एक पुलिसवाले ने उसे कमर की ओर से और एक ने उसका हाथ पकड़ा ताकि वह भाग न निकले. पकड़े जाने के बाद भी विकास दुबे के चेहरे पर कोई डर या शिकन नजर नहीं आई. वह उसी हेकड़ी से तनकर गाड़ी तक पहुंचा. गाड़ी के पास आकर जब पुलिस ने उसे पकड़कर अंदर बैठाने का प्रयास किया तो उसने पुलिस को धकमी दी कि वह कानपुर वाला विकास दुबे हैं. विकास दुबे जोर से चिल्लाया, ‘मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला….’ उसके इतना बोलते ही हेकड़ी कम करने के लिए पीछे खड़े एक पुलिसवाले ने उसे एक थप्पड़ मारा.

मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की. पुलिस सूत्रों के मुताबिक मंदिर के पुजारी ने पुलिस को बुलाकर विकास दुबे की जानकारी दी. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया. 

गैंगस्टर विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद उसकी मां का बयान आया है. विकास की मां ने कहा कि हमको टीवी देख कर पता चला विकास को पकड़ लिया गया है. उन्होंने कहा कि हम सरकार से कोई अपील नहीं करेंगे जिनको अपील करना है वह लोग खुद अपील करेंगे. विकास की मां ने बताया कि उज्जैन में विकास की ससुराल है. वह हर साल वहां महाकाल मंदिर में दर्शन के लिए जाता था. 

विकास दुबे के गिरफ्तारी देने के बाद मध्य प्रदेश के बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट करते हुए कहा कि बाबा महाकाल के दरबार में पापी को आखिर मिला दंड. जय महाकाल. उन्होंने लिखा कि कुख्यात बदमाश विकास दुबे को उज्जैन के श्री महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया. मंदिर के सुरक्षाकर्मियों और उज्जैन पुलिस को बधाई. विकास दुबे को उसके किए हुए पापों की कठोरतम सज़ा मिलनी चाहिए. 

जब पुलिस विकास दुबे को पकड़कर महाकाल थाने में ले जा रही थी, तब विकास दुबे लगातार मीडिया से बात कर रहा था. इसी दौरान वो चिल्लाया, ‘…मैं विकास दुबे हूं…कानपुर वाला’. इस दौरान साथ में पुलिसवालों ने उसे चुप कराया और तुरंत गाड़ी में बैठा दिया.

कैसे उज्जैन पहुंचा विकास दुबे?

आपको बता दें कि विकास दुबे कानपुर की घटना के बाद भाग गया था, जिसके बाद हरियाणा के फरीदाबाद में उसकी झलक दिखी थी. फरीदाबाद के एक होटल के CCTV कैमरे में विकास दुबे को देखा गया था, लेकिन वो वहां से फरार हो गया. छापे में उसके गुर्गे गिरफ्तार कर लिए गए थे.

विकास दुबे लगातार छुपता हुआ भाग रहा था, पहले उसके नोएडा और फिर राजस्थान जाने की बात की जा रही थी. ऐसे में पुलिस ने NCR में लगातार छापेमारी की थी. लेकिन विकास दुबे वहां पर भी नहीं मिला..अब सात दिन बाद उसके उज्जैन में मिलने की खबर आई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here