नई दिल्ली: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन अगले सप्ताह अपने शपथ ग्रहण समारोह में कोरोनावायरस महामारी, खस्ताहाल अमेरिकी अर्थव्यवस्था, जलवायु परिवर्तन और नस्लीय अन्याय जैसे मुद्दों से जुड़े कार्यकारी आदेशों पर हस्ताक्षर करेंगे. इसके साथ अमेरिका के लिए पेरिस जलवायु समझौते को फिर से जारी करने और ट्रम्प द्वारा मुस्लिम बहुसंख्यक देशों के लोगों के प्रवेश पर लगाए प्रतिबंध को हटाने या बदलने जैसे आदेशों पर हस्ताक्षर करने की योजना है.
राष्ट्रपति के रूप में अपने पहले कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करते हुए वह अमेरिका को फिर से पेरिस समझौते (Paris Accord) में शामिल करेंगे. इसके अलावा, बाइडेन सात मुस्लिम देशों पर लगे यात्रा प्रतिबंध को रद्द करने के लिए भी कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर करने वाले हैं. डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने अपने कार्यकाल के दौरान इन दोनों ही आदेशों को पारित किया था, जिसे लेकर उनकी खूब आलोचना की गई थी. गौरतलब है कि बाइडेन को पर्यावरण और मानवाधिकारों के प्रति जागरूक नेता के रूप में जाना जाता है.
शपथग्रहण को लेकर सुरक्षा कड़ी
जो बाइडेन का शपथग्रहण राजधानी वाशिंगटन डीसी में 20 जनवरी को होना है. शपथग्रहण के मद्देनजर राजधानी को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. 25,000 से अधिक नेशनल गार्ड्स को यहां तैनात किया गया है. कैपिटल बिल्डिंग में हुई हिंसा के बाद से राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था को अधिक कड़ा कर दिया गया है. वहीं, FBI ने चेतावनी दी है कि शपथग्रहण वाले दिन हथियारबंद प्रदर्शनकारी कार्यक्रम में खलल डाल सकते हैं. इससे निपटने के लिए भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here