• कांग्रेस ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन
• दिल्ली हिंसा में अब तक 36 की मौत
• सोनिया ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा

नई दिल्ली: नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में उपद्रवियों की हिंसा के बाद आज पांचवें दिन अधिकतर इलाकों में तनावपूर्ण शांति है। आज फिलहाल हिंसा की खबर नहीं मिली है। कल एनएसए अजीत डोभाल और सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी इलाके का दौरा किया। हिंसा में अब तक 36 जानें गई हैं। घायलों की तादाद 200 के पार है।
दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी प्रतिनिधिमंडल के साथ राष्ट्रपति भवन पहुंचीं। सोनिया गांधी ने दिल्ली हिंसा को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन सौंपा। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी उनके साथ थे। राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपने के बाद सोनिया गांधी ने कहा कि दिल्ली में तीन दिन तक हिंसा हुई। केंद्र और दिल्ली सरकार मूकदर्शक बनी रही।
सोनिया गांधी ने भी कहा कि हमने राष्ट्रपति से अपील की है कि कानून की रक्षा की जिम्मेदारी आपकी है, ऐसे में आप केंद्र सरकार को राजधर्म याद दिलाएं.


गौरतलब है कि कांग्रेस की ओर से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा आनंद शर्मा, मल्लिकार्जुन खड़गे, पी. चिदंबरम शामिल रहे.
उन्होंने कहा, हमने राष्ट्रपति से आह्वान किया है कि वो सुनिश्चित करें कि नागरिकों की जिंदगी, उनकी स्वतंत्रता और संपत्ति सुरक्षित रहे। हमने गृहमंत्री अमित शाह को तुरंत पद से हटाने की भी मांग की है। सोनिया ने कहा कि राष्ट्रपति ने हमें आश्वासन दिया है कि वो केंद्र सरकार से बात करेंगे और जरूरी कदम उठाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here