लखनऊ : कानपुर एनकांउटर का मुख्य आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को गुरुवार की सुबह उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी विकास दुबे की उज्जैन में हुई गिरफ्तारी के बाद बिहार में भी राजनीति बयानबाजी शुरू हो गयी है. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने विकास दूबे के मामले में प्रशासन को फेल बताते हुए CBI जांच की मांग की है, वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा नेता अखिलेश यादव ने भी इस मुद्दे पर सरकार को घेरा है.

विकास दुबे पर प्रियंका गांंधी उठाए सवाल, कहा- कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना, न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है.

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि ख़बर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है. अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी. साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे, जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके.

विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए यूपी पुलिस देश के कई राज्यों में खाक छान रही थी। 2 दिन पहले वह फरीदाबाद में दिखा था। वहीं, यूपी पुलिस द्वारा संपर्क किए जाने के बाद एमपी पुलिस भी अलर्ट पर थी। उसके बाद भी सभी के दावों को विकास दुबे ने हवा निकाल दी है। उज्जैन पुलिस भले ही दावा कर रही है कि हमने इसे गिरफ्तार किया है लेकिन प्रत्यक्षदर्शी बता रहे हैं कि उसने खुद ही बताया कि मैं विकास दुबे हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here