हाईलाइट
• दिल्ली में 50 से ज्यादा लोगों के इक्ट्ठा होने का आदेश प्रदर्शन पर भी लागू
• धरनास्थल पर बुजुर्गों को मास्क लगाया गया
• बच्चों को धरनास्थल से दूर रहने को कहा गया
• जिम, नाइट क्लब, थिएटर, स्पा सेंटर, साप्ताहिक बाजार भी 31 तक बंद

शाहीन बाग़:  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को घोषणा की कि कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी में 31 मार्च तक 50 से अधिक लोगों की मौजूदगी वाले धार्मिक, सामाजिक सांस्कृतिक कार्यक्रम और राजनीतिक बैठकें करने की अनुमति नहीं होगी.

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ महिलाओं की अगुवाई वाले धरने को 93 दिन हो गए हैं. धरने को युवा और कॉलेज छात्रों ने संबोधित किया. धरने में महिलाएं और बच्चे शामिल थे. इसमें फैज अहमद फैज की कविताओं का पाठ किया गया. विविधता में एकता और क्रांति के नारे लगाए जा रहे थे.

दिल्ली पुलिस और शाहीनबाग की महिला प्रदर्शनकारियों के बीच मंगलवार को एक बार फिर वार्ता हुई. पुलिस अधिकारियों ने यहां नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं से मुख्य सड़क मार्ग को खाली करने की अपील की, लेकिन प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस की अपील को दरकिनार करते हुए प्रदर्शन जारी रखने का ऐलान किया है.

शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन से करीब 100 मीटर दूर स्थित चौराहे पर पुलिस और महिला प्रदर्शनकारियों के बीच यह बातचीत हुई। यहां पुलिस की ओर से स्थानीय एसएचओ और एसीपी जगदीश यादव मौजूद थे. वहीं, प्रदर्शनकारियों की ओर से करीब 20 महिलाएं इस वार्ता में शामिल हुईं.

वापस धरना स्थल पर लौटने के बाद इन महिलाओं ने प्रदर्शन पर बैठी बाकी महिलाओं को बताया कि पुलिस सड़क का दूसरा हिस्सा यातायात के लिए खाली करवाना चाहती है. तब धरना दे रही सभी महिलाओं ने एक स्वर में इससे इंकार कर दिया. धरना दे रही अधिकांश महिलाओं का कहना है कि सरकार पहले नागरिकता संशोधन कानून को वापस ले, उसके बाद ही यह धरना समाप्त किया जाएगा.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि 31 मार्च तक के लिए सभी जिम, नाइट क्लब बंद किए गए हैं। 50 से अधिक लोगों को एक जगह इकट्ठा होने की इजाजत नहीं. केवल शादी में ही छूट रहेगी लेकिन हो सके तो शादी को भी टाल दें.उन्होंने बताया कि 50 से ज्यादा लोगों के इक्ट्ठा होने का आदेश प्रदर्शन पर भी लागू होगा. किसी भी प्रोटेस्ट को मंजूरी नहीं मिलेगी और सरकार इस पर नज़र रख रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here