अंकारा: तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोआन ने हागिया सोफिया के बाद अब एक और चर्च को मस्जिद में बदलने के आदेश जारी कर दिए हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक, राष्ट्रपति का यह आदेश 21 अगस्त के आधिकारिक राजपत्र में प्रकाशित किया गया है. तुर्की की सरकार जिस चर्च को मस्जिद में बदलने जा रही है उसका नाम कोरा म्यूजियम (Kariye Museum or Chora Museum) है. बता दें कि हागिया सोफिया (Hagia Sophia) की तरह ही केरिए म्यूजियम भी पहले चर्च था, और बाद में इसे मस्जिद और फिर म्यूजियम में तब्दील कर दिया गया था.


हजार साल पुरानी है कोरा म्यूजियम की इमारत
चौथी सदी के इस प्राचीन चर्च को ऑटोमन साम्राज्य के दौर में मस्जिद में बदल दिया गया था. 1945 में तत्कालीन तुर्की सरकार द्वारा इसे म्यूजियम के तौर पर नामांकित किया गया था. 1958 में इसे एक म्यूजियम के तौर पर जनता के लिए खोल दिया गया था.

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यह कारी संग्रहालय बन गया. अमेरिकी कला इतिहासकारों के एक समूह ने तब मूल चर्च के मोजेक को फिर से स्थापित करने में मदद की और 1958 में उन्हें सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए खोल दिया. तुर्की की शीर्ष प्रशासनिक अदालत ने नवंबर में एक मस्जिद में संग्रहालय के रूपांतरण को मंजूरी दे दी.

पिछले साल तुर्की की एक अदालत ने चोरा (तुर्की में इस करिए कहते हैं) को म्यूजियम में बदलने वाले 1945 के सरकारी फैसले को खारिज कर दिया था.


हागिया सोफिया संग्रहालय को मस्जिद में बदला गया
बता दें कि पिछले महीने ही राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन के नेतृत्व में एक संग्रहालय को मस्जिद में बदल दिया गया था. वहां की एक अदालत ने वर्ष 1934 में तत्कालीन सरकार द्वारा हागिया सोफिया को संग्रहालय में बदलने के निर्णय को गैरकानूनी करार दिया था. इस फैसले के साथ ही लगभग एक हजार साल तक चर्च रहे इस इमारत को मस्जिद में बदलने का रास्ता साफ हो गया था. अदालत के फैसले के घंटेभर बाद राष्ट्रपति एर्दोगन ने हागिया सोफिया को मस्जिद के रूप में नमाज के लिए खोलने का एलान कर दिया था. उल्लेखनीय है कि अपने 17 साल के शासन में एर्दोगन ने इस्लाम को तुर्की की राजनीति के मुख्यधारा में लाने का काम किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here