कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. सरकार ने जनवरी-फरवरी में CBSE बोर्ड की परीक्षाएं न कराने का फैसला लिया है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेशन पोखरियाल निशंक ने ये घोषणा की है. परीक्षा की तारीखों को लेकर बाद में ऐलान किया जाएगा. 

शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है जनवरी या फरवरी में बोर्ड की परीक्षा नहीं होगी. बाद में एग्जाम आयोजित किया जाएगा. देशभर के शिक्षकों के साथ ऑनलाइन संवाद करते हुए केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा, ”15 फरवरी से मार्च मध्य तक परीक्षा होती थी. जो परिस्थितियां हैं जनवरी-फरवरी में ये परीक्षा संभव नहीं है.”

निशंक ने बातचीत के दौरान कहा कि कोरोना काल में शिक्षकों ने योद्धाओं की तरह बच्चों को पढ़ाया है. उन्होंने कहा कि महामारी के दौर में भी ऑनलाइन मोड से शिक्षकों ने बच्चों को उन्होंने पढ़ाने में कोई कमी नहीं छोड़ी. शिक्षा मंत्री ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत स्कूली शिक्षा में ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) ला रहे हैं. भारत दुनिया का पहला देश बनेगा जहां, स्कूली स्तर पर ही AI की पढ़ाई शुरू होगी.

बता दें कि इससे पहले केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने परीक्षाओं के संचालन के पूर्व छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ त्रिस्तरीय संवाद की योजना बनाई थी. शिक्षा मंत्री तीन अलग-अलग तिथियों पर छात्रों, अभिभावकों, शिक्षकों के साथ वेबिनार के जरिए सीधे संवाद कर रहे हैं.

गौरतलब है कि कोरोनावायरस महामारी के दौरान समय पर परीक्षा आयोजित करने की पहल के तहत शिक्षा मंत्री ने छात्रों अभिभावकों और शिक्षकों के साथ अलग-अलग स्तर पर बाचतीत करने की योजना बनाई है. केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल इसके पहले इसी तरह का एक वेबिनार 18 दिसंबर को आयोजित किया था. इसमें उन्होंने छात्र-छात्राओं से परीक्षा और सिलेबस के संबंध में विस्तार से चर्चा की थी और आज शिक्षकों से लाइव चर्चा करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here