मशहूर शायर राहत इंदौरी का मंगलवार को निधन हो गया. वह 70 साल के थे. आज ही उन्होंने ट्वीट करके बताया था कि वह कोरोना पॉजिटिव है. उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

श्री अरबिंदो अस्पताल के डॉ विनोद भंडारी ने बताया कि उर्दू कवि राहत इंदौरी का निधन अस्पताल में हुआ. उन्हें आज दो बार दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका. कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें 60 फीसदी निमोनिया था. 

मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से मंगलवार को निधन हो गया. वे कोरोना वायरस से भी संक्रमित थे, जिसके उपचार के लिए उन्हें मध्य प्रदेश के इंदौर में 10 अगस्त की देर रात अरविंदो अस्तपाल में भर्ती कराया गया था. राहत इंदौरी के बेटे सतलज ने इस बात की जानकारी दी थी, बाद में खुद भी राहत इंदौरी ने इस बारे में ट्वीट किया था.

1 जनवरी 1950 को राहत साहब का जन्म हुआ था. वह दिन इतवार का था और इस्लामी कैलेंडर के अनुसार ये 1369 हिजरी थी और तारीक 12 रबी उल अव्वल थी. इसी दिन रिफअत उल्लाह साहब के घर राहत साहब की पैदाइश हुई जो बाद में हिन्दुस्तान की पूरी जनता के मुश्तरका ग़म को बयान करने वाले शायर हुए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here