नई दिल्ली: सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन ने फेसबुक के साथ मिलकर टीचर्स और स्टूडेंट्स के लिए डिजिटल ट्रेनिंग क्यूरीकुलम लॉन्च किया है. इसके अंतर्गत डिजिटल सेफ्टी, ऑनलाइन वेलबीइंग और ऑगमेंटेंड रिएल्टी के बारे में सिखाया जाएगा. इस कोर्स का मॉड्यूल सेकेंडरी स्कूल स्टूडेंट्स के लिए डिजाइन किया गया है.

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट करके इसकी सराहना की. उन्होंने कहा, ‘मै सीबीएसई और फेसबुक को टीचर्स और स्टूडेंट्स के लिए डिजिटल सुरक्षा, ऑनलाइन सुरक्षा और ऑग्मेंटेड रियलिटी संबंधी प्रमाणित कार्यक्रम शुरू करने को लेकर की गई साझेदारी के लिए बधाई देता हूं.’


इसके लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आज से यानी 6 जुलाई से शुरू होकर 20 जुलाई तक चलेगी. यह ट्रेनिंग प्रोग्राम बिल्कुल फ्री होगा. पहले चरण में अगस्त से नवंबर 2020 के बीच वर्चुअल मोड में ट्रेनिग दी जाएगी.
कैसे करें रजिस्टर
रजिस्ट्रेशन 6 जुलाई से लेकर 20 जुलाई 2020 तक कर सकते हैं. बोर्ड ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी किया है। उसमें कहा गया है कि स्कूलों को इस ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए अपने टीचर्स व स्टूडेंट्स को नॉमिनेट करना होगा. इस कोर्स के लिए आवेदन फॉर्म सीबीएसई की वेबसाइट http://cbse.nic.in पर उपलब्ध है. 

इन कोर्सेज के लिए आवेदन की प्रक्रिया आज से शुरू हो गई है और 20 जुलाई तक चलेगी. वहीं शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यक्रम 10 अगस्त से जबकि छात्रों के लिए यह कार्यक्रम 6 अगस्त से शुरू होगा.

डिजिटल सेफ्टी ट्रेनिंग
ऑनलाइन क्लासेस और ई लर्निंग से छात्र में इंटरनेट का इस्तेमाल और ज्यादा बढ़ गया है. कोरोना वायरस के इस दौर में ऑनलाइन छेड़छाड़, फेक न्यूज, भ्रामक सूचना और इंटरनेट के इस्तेमाल की लत में भी बढ़ोत्तरी हुई है. इसी को देखते हुए सीबीएसई ने फेसबुक के साथ करार किया है जिसमें फेसबुक टीचर और छात्रों को फ्री में डिजिटल सेफ्टी की ट्रेनिंग देगा.

ऑग्यूमेंटेड रियलिटी – इस विषय की ट्रेनिंग सिर्फ टीचर्स के लिए होगी. पहले फेज में देशभर से 10 हजार टीचर्स को इसमें शामिल होने का मौका मिलेगा। इसकी ट्रेनिंग 10 अगस्त 2020 से शुरू होगी.

मिलेगा ई-सर्टिफिकेट
सीबीएसई और फेसबुक के इस प्रशिक्षण में हिस्सा लेने वालों को कोर्स पूरा होने पर ई-प्रमाण पत्र दोनों संस्थाओं की ओर से संयुक्त रूप से दिया जाएगा. बतादें, सीबीइसई और फेसुक के इस कोलाब्रेशन की अगुवाई फेसबुक फॉर एजुकेशन कर रही है जो फेसबुक की वैश्विक पहल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here