चंडीगढ़: पंजाब में 116 शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के 2252 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज हो जाएगा. अबतक के नतीजों के मुताबिक कांग्रेस ने बड़ी जीत जर्ज की है. कांग्रेस अबतक 342 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है. वहीं नए कृषि कानूनों को लेकर विरोध का सामना कर रही बीजेपी के सिर्फ दो ही उम्मीदवार जीते हैं.

बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ रहा है. यहां तक की बीजेपी सरकार में मंत्री रहे तीक्ष्ण सूद की पत्नी तक चुनाव हार गईं. निकाय चुनाव में बीजेपी को मायूसी हाथ लगी है और इसके पीछे वजह किसानों का गुस्सा माना जा रहा है. किसान आंदोलन का सबसे ज्यादा असर पंजाब और हरियाणा में है और निकाय चुनाव के नतीजों में यह साफ झलक रखा है.

अभी तक के जो नतीजे सामने आए हैं, उनके मुताबिक ये स्थिति है:
•    बाटला नगर निगम: कांग्रेस 35, अकाली दल 6, बीजेपी 4, AAP 3, निर्दलीय 1
•    मोगा नगर निगम: कांग्रेस 20, अकाली दल 15, बीजेपी 1, AAP 4, निर्दलीय 10
•    कपूरथला नगर निगम: कांग्रेस 43, अकाली दल 3, निर्दलीय 2
•    पठानकोट नगर निगम: कांग्रेस 37, अकाली दल 1, बीजेपी 11, निर्दलीय 1
•    अबोहर नगर निगम: कांग्रेस 49, अकाली दल 1
नगर निगमों के अलावा नगर पंचायत और अन्य निकाय चुनावों में भी कांग्रेस पार्टी लगातार बढ़त बनाए हुए है. गुरदासपुर शहर में भी कांग्रेस पार्टी ने सभी वार्ड में जीत हासिल कर ली है, यहां के सभी 29 वार्ड कांग्रेस के खाते में गए हैं. गुरदासपुर से बीजेपी के सनी देओल सांसद हैं.

53 साल बाद बठिंडा में होगा कांग्रेस का मेयर
बठिंडा में कांग्रेस पार्टी ने बड़ी जीत दर्ज की है. कांग्रेस नेता मनप्रीत सिंह ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है. यहां पर 53 साल बाद कांग्रेस ने यह करिश्मा किया है. जब बठिंडा में कांग्रेस पार्टी का मेयर होगा. इससे पहले यहां पर शिरोमणि अकाली दल का कब्जा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here