• यूपी के सीएम ने सभी स्‍कूलों के शिक्षकों के शैक्षणिक दस्‍तावेज जांचने के लिए एक टीम बनाने का आदेश दिया है
• इनमें सभी बेसिक, माध्यमिक, उच्च शिक्षण संस्थान, समाज कल्याण विभाग के स्‍कल और कस्तूरबा गांधी बालिका स्‍कूल शामिल हैं

नई दिल्ली: यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने सभी स्‍कूलों के टीचरों के डॉक्‍युमेंट चेक करने के लिए एक टीम बनाने का आदेश दिया है. हाल ही में फर्जीवाड़े की कई घटनाएं सामने आई हैं.
गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने रविवार को यहां संवाददाताओं को बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी बेसिक, माध्यमिक तथा उच्च शिक्षण संस्थानों, समाज कल्याण विभाग के विद्यालयों और कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों के शिक्षकों के शैक्षणिक दस्तावेजों की जांच के लिए एक ‘डेडिकेटेड टीम’ बनानेबनाने का निर्देश दिया है.
उन्होंने बताया कि योगी ने यह भी कहा कि अगर कहीं पर भी कोई व्यक्ति फर्जी दस्तावेजों पर नौकरी करता हुआ पाया जाए तो उसके खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाए. मुख्यमंत्री ने यह निर्देश ऐसे समय दिए हैं जब राज्य में अनामिका शुक्ला प्रकरण चर्चा में है। उत्त प्रदेश के कई जिलों में अनामिका शुक्ला के दस्तावेज पर अलग-अलग महिलाओं द्वारा नौकरी करके वेतन लेने के मामले सामने आए हैं। पुलिस का विशेष कार्यबलल इसकी जांच कर रहा है.
बता दें कि शिक्षा विभाग में सामने आ रहे फर्जीवाड़ों को लेकर कांग्रेस महासचिव ने योगी सरकार से सवाल किया था कि यह किसके कार्यकाल में हुआ है? प्रियंका ने ट्वीट कर यह सवाल भी उठाए थे कि क्या इसकी जानकारी संबंधित विभाग के मंत्री या मुख्यमंत्री को नहीं थी? सवालों से घिरी योगी सरकार ने सभी शिक्षकों के डॉक्यूमेंट्स की जांच के आदेश दे दिए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here