मुंबई: महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा सचिन तेंदुलकर लता मंगेशकर विराट कोहली सहित अन्य सितारों द्वारा किए गए ट्वीट की जांच के आदेश दिए गए हैं. महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार यह जांच करना चाहती है कि कहीं मोदी सरकार के दबाव में तो इन सितारों ने यह ट्वीट नहीं किए हैं?
आपको बता दें कि किसान आंदोलन को लेकर पॉप स्टार रिहाना ने जब एक ट्वीट किया तो उसके बाद हर तरफ उस बवाल मचा. एक दिन बाद ही विदेश मंत्रालय ने उसे लेकर नसीहत जारी की कि विदेशी हस्तियों को सोच समझकर बोलना चाहिए. विदेश मंत्रालय ने ट्वीट भी किया. विदेश मंत्रालय के उसी ट्वीट को लेकर सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली, अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी सहित कई बड़ी हस्तियों ने भी ट्वीट किया और देश का बचाव किया. अब महाराष्ट्र सरकार इस बात की जांच कराने जा रही है कि क्या ये ट्वीट इन हस्तियों ने मोदी सरकार के दबाव में आकर किया?
महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा, ”रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन, लता, विराट सहित अन्य सितारों ने जो ट्वीट किया हैं उसमें पैटर्न हैं.. कई शब्द कॉमन हैं. खासकर, सायना और अक्षय कुमार का ट्वीट एकदम सेम हैं. इन सभी के ट्वीट का समय भी कई सवाल खडे कर रहा हैं. इसलिए हम इसकी जांच की जाएगी. राज्य इंटेलिजेंस विभाग इसकी जांच करेगा.”
शरद पवार ने सचिन को क्या दी थी नसीहत?
दरअसल, शरद पवार ने अमेरिकी पॉप सिंगर रिहाना के किसान आंदोलन के मसले पर ट्वीट करने के जवाब में सचिन तेंदुलकर के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए शनिवार को कहा,’उनके (भारतीय हस्तियों) द्वारा उठाए गए स्टैंड पर कई लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. मैं सचिन (तेंदुलकर) को सलाह दूंगा कि वे किसी अन्य क्षेत्र के बारे में बोलते हुए सावधानी बरतें.’

क्या है पूरा मामला?

बता दें कि इंटरनेशनल पॉप स्टार रिआना ने किसानों के प्रदर्शन को लेकर ट्वीट किया था और कहा था कि हम इस पर बात क्यों नहीं कर रहे हैं. इसके बाद पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) और मिया खलीफा (Mia Khalifa) समेत कई अंतरराष्ट्रीय सितारों ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया और भारत की छवि खराब करने की कोशिश की.

इसके बाद सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, लता मंगेशकर और अक्षय कुमार सहित देश की विभिन्न हस्तियों ने सोशल मीडिया पर इसका विरोध किया और ‘हैशटैग इंडिया टुगेदर’ और ‘हैशटैग इंडिया अगेन्स्ड प्रोपेगैंडा’ के साथ ट्वीट किया. सभी हस्तियों ने सरकार के रुख के समर्थन में ट्वीट किया और किसान आंदोलन को भारत का आंतरिक मामला बताया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here