ब्रिटेन में सामने आए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर रोक लगाने की मांग की है. बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस के एक नए प्रकार (स्ट्रेन) से संक्रमण की दर अचानक से बढ़ गई है.

नई दिल्ली: भारत में एक तरफ कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर तैयारी की जा रही है तो दूसरी तरफ ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के मिलने से बाद चिंता और बढ़ गई है. बताया जा रहा है कि कोरोना का यह स्ट्रेन पहले से 70 फीसद तेजी से फ़ैल रहा है. ब्रिटेन में कई जगहों पर लॉकडाउन के बाद कई देशों ने फ्लाइट पर बैन लगा दिया है. अब भारत में भी ऐसी ही मांग उठने लगी है. सोमवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मसले पर ट्वीट किया.
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मसले पर ट्वीट किया है. केजरीवाल ने लिखा कि यूनाइटेड किंगडम में कोरोना के नए स्ट्रेन से हलचल है और वो सुपर स्प्रेडर की तरह काम कर रहा है. ऐसे में भारत सरकार को यूके की सभी फ्लाइट बैन करनी चाहिए.


राजस्थान के सीएम ने लिखा कि भारत को अन्य देशों के साथ भी किसी तरह की मूवमेंट पर सतर्कता बरतनी होगी. साथ ही अगर वायरस के नए स्ट्रेन का कोई मामला आता है, तो मेडिकल एक्सपर्ट को तैयार रहना चाहिए.
वायरस के नए स्‍ट्रेन का खौफ बढ़ता ही जा रहा है. कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, बेल्जियम, ऑस्ट्रिया, आयरलैंड, चिली और बुल्गारिया के बाद अब सऊदी अरब ने बेहद सख्‍त कदम उठाया है. सऊदी अरब ने ऐलान किया है कि कोरोना के एक नए प्रकार (स्ट्रेन) के सामने आने और उसके तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर अस्थायी रूप से अपनी सभी अंतरराष्ट्रीय यात्री विमान सेवाएं स्थगित कर दी हैं.
सऊदी अरब ने भी कोरोना के नए संक्रामक स्ट्रेन के डर से एक हफ्ते के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द कर दी है. सऊदी अरब के गृह मंत्री ने कहा है कि जब तक कोरोना वायरस के नए रूप को लेकर पूरी जानकारी नहीं आ जाती, तब तक फ्लाइट बैन को आगे बढ़ाया जा सकता है.सऊदी अरब के समुद्री बंदरगाह भी एक हफ्ते के लिए बंद रहेंगे. सरकार ने आदेश दिए हैं कि पिछले तीन महीने में अगर कोई यूरोपीय देश का दौरा करके आया है तो तुरंत कोविड टेस्ट कराए.
आपको बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन VUI-202012/01 मिला है, जिसके बाद विज्ञान जगत में हलचल तेज है. ब्रिटेन ने भी अपने यहां सख्ती को बढ़ाया है. जबकि फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड समेत यूरोप के कई देशों ने यूके की फ्लाइट पर ही बैन लगा दिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना के इस नए स्ट्रेन पर अध्ययन किया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here