देश में कोरोना (Corona Virus) का कहर जारी है. हर रोज कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं जिससे सरकार की चिंता एक बार फिर बढ़ गई है. देश के 8 राज्यों में कोरोना की दूसरी लहर का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल रहा है.
महाराष्ट्र, कर्नाटक, पंजाब, मध्य प्रदेश, गुजरात, केरल, तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ से हर रोज कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं. देश के 84.5 फीसदी मामले यहीं से सामने आ रहे हैं. वहीं 80 फीसदी सक्रिय मामले महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ से सामने आ रहे हैं.
वहीं देश भर से पिछले 24 घंटे में कोरोना के 68,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. पिछले 24 घंटों के नए आंकड़ों के साथ ही देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर अब 1,20,39,644 हो गए हैं. वहीं एक दिन में कोरोना से कुल 200 से ज्यादा लोगों ने जान गंवा दी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 5,21,808 हो गई है. स्वस्थ होने वाले लोगों की दर गिरकर 94.58 प्रतिशत हो गई है.
ऐक्टिव केसेज की संख्‍या 5 लाख के पार
देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या 5 लाख से ज्‍यादा हो गई है. रविवार को इसमें 35 हजार से ज्‍यादा का इजाफा हुआ है. एक लाख ऐक्टिव केसेज सामने आने का यह सबसे तेज वाकया है। 4 से 5 लाख ऐक्टिव केस होने में सिर्फ तीन दिनों का समय लगा.
भारत में 22 मार्च से 28 मार्च के बीच वाले सप्‍ताह में 3.9 लाख से ज्‍यादा मामले सामने आए जो कि अक्‍टूबर के बाद से सर्वाधिक आंकड़ा है। पिछले हफ्ते (15 मार्च – 21 मार्च) में 67% का इजाफा देखने को मिला था, तब उसके पहले वाले हफ्ते से 1 लाख से ज्‍यादा मामले सामने आए थे. दोनों हफ्तों को मिला दें तो पिछले दो हफ्तों में महामारी शुरू होने के बाद इतने ज्‍यादा मामले कभी सामने नहीं आए थे.
वायरस की दूसरी लहर का असर
बता दें कि देश के एक दर्जन से अधिक राज्य कोरोना वायरस की दूसरी लहर का सामना कर रहे हैं. महामारी को नियंत्रण में लाने का अनुभव होने के बावजूद इन राज्यों में स्थिति सामान्य नहीं हो पा रही है. इसकी मुख्य वजह वायरस का पहले से ज्यादा आक्रामक होना है. आंकड़ों पर गौर करें तो कोरोना वायरस की आक्रामकता में 300 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. केंद्र सरकार ने महामारी की दूसरी लहर के लिए राज्यों को जिम्मेदार ठहराया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here