• सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत
• देश नहीं छोड़ने की रखी शर्त

नई दिल्ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है. सुप्रीम कोर्ट ने पी चिदंबरम को सशर्त जमानत दी. पी चिदंबरम बिना निचली अदालत की अनुमति के विदेश नही जा सकते.उन्हें जाँच में मदद करना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने कहा इस फैसले का असर चिदंबरम के खिलाफ चल रहे किसी दूसरे मामले पर नहीं पड़ेगा.
सुप्रीम कोर्ट ने एक लाख रुपये के निजी मुचलके पर जमानत देते हुए कहा कि चिदंबरम को जेल से रिहा किया जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि उन्‍हें किसी अन्य मामले में गिरफ्तार नहीं किया गया हो। शीर्ष अदालत ने यह भी निर्देश दिया कि जेल से रिहाई होने के बावजूद पूछताछ के लिए चिदंबरम को उपलब्ध रहना होगा। सीबीआई ने INX Media Case में चिदंबरम को 21 अगस्त को उनके जोरबाग स्थित आवास से गिरफ्तार किया था।
बीते 18 अक्‍टूबर को शीर्ष अदालत में सीबीआई के खुलासे से पहले माना जा रहा था कि आइएनएक्स मीडिया की पूर्व प्रमोटर इंद्राणी मुखर्जी की गवाही ही केस में मूल आधार है। सीबीआई ने कहा था कि एफआइपीबी की मंजूरी संबंधी आइएनएक्स मीडिया मामले में तो जांच तो पूरी हो गई है, लेकिन कंपनियों को मिली मंजूरी की जांच चल रही है। एजेंसी ने चिदंबरम के देश छोड़कर भागने की आशंका भी जताई थी।
बीते 18 अक्‍टूबर को शीर्ष अदालत में सीबीआई के खुलासे से पहले माना जा रहा था कि आइएनएक्स मीडिया की पूर्व प्रमोटर इंद्राणी मुखर्जी की गवाही ही केस में मूल आधार है। सीबीआई ने कहा था कि एफआइपीबी की मंजूरी संबंधी आइएनएक्स मीडिया मामले में तो जांच तो पूरी हो गई है, लेकिन कंपनियों को मिली मंजूरी की जांच चल रही है। एजेंसी ने चिदंबरम के देश छोड़कर भागने की आशंका भी जताई थी।

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम को सीबीआई वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई है.

बताते चले कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने बीते शुक्रवार को INX मीडिया मामले में अपनी चार्जशीट दाखिल की थी. CBI ने चार्जशीट में पी चिदंबरम करीब 10 लाख रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगाया. CBI ने स्पेशल कोर्ट में दाखिल अपनी चार्जशीट में कहा कि पी चिदंबरम ने 2008 में यह पैसे लिए थे. CBI के अनुसार पी चिदंबरम ने रिश्वत के तौर पर कुल 9.96 लाख रुपये लिए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here