लखनऊ: आज उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस है. साल 1950 में आज ही के दिन अस्तित्व में आया यूपी आज 70 साल का हो गया है. देश के सबसे बड़े राज्य के स्थापना दिवस के मौके पर प्रदेश भर में कई कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. वहीं, स्थापना दिवस के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ से लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है.
24 जनवरी 1950 को अस्तित्व में आया था उत्तर प्रदेश
उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश 24 जनवरी, 1950 को राज्य के रूप में अस्तित्व में आया था. राम नाईक जब यूपी के राज्यपाल बने तो उन्होंने यूपी दिवस मनाये जाने का कांसेप्ट दिया. ये तीसरी बार मनाया जा रहा है. इस कार्यक्रम का आयोजन शहीद पथ के नजदीक अवध शिल्प ग्राम में पर्यटन विभाग द्वारा किया जा रहा है.
सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा, “मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम और लीलाधर श्रीकृष्ण की पावन जन्मभूमि का प्रदेश, भारत का हृदय प्रदेश, भारतीय संस्कृति का उद्गम स्थल, उ.प्र. के स्थापना दिवस पर सभी निवासियों को हार्दिक बधाई. आइए, हम सभी ‘आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश’ की संकल्पना को साकार करने हेतु संकल्पित हों.”


वहीं, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, “उत्तर प्रदेश दिवस पर राज्य के प्रतिभाशाली व कर्मठ निवासियों को बधाई. अनेक क्षेत्रों में उपलब्धियां हासिल करके, देश की सबसे बड़ी आबादी वाले इस राज्य ने राष्ट्र निर्माण की प्रक्रिया को शक्ति दी है. उत्तर प्रदेश वासियों की उत्तरोत्तर प्रगति व खुशहाली के लिए मैं मंगल कामना करता हूं.”

पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर राज्य के सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं. त्याग, तप, परंपरा और संस्कृति की पावन भूमि रहा यह राज्य आज आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. मेरी कामना है कि चौतरफा विकास की ओर अग्रसर यह प्रदेश यूं ही नई ऊंचाइयों को छूता रहे.

बता दें कि सूबे की योगी सरकार इस बार हर जिले में स्थापना दिवस मनाने की तैयारी में है. सूबे में तीन दिन तक यूपी स्थापना दिवस मनाया जाएगा. इस मौके पर राज्य के अलग-अलग जिलों में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.

इस वर्ष उत्तर प्रदेश दिवस की थीम आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश, महिला युवा किसान, सबका विकास सबका सम्मान है. उद्घाटन समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वालों को सम्मानित किया जाएगा. इसके तहत खेल जगत में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले पुरुष एवं महिला खिलाड़ियों को लक्ष्मण पुरस्कार तथा रानी लक्ष्मीबाई पुरस्कार दिया जाएगा. दुग्ध उत्पादकों को गोकुल पुरस्कार एवं नन्द बाबा पुरस्कार दिए जाएंगे. कृषि विभाग द्वारा तीन किसानों को भी पुरस्कृत किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here