नई दिल्‍ली: पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शुक्रवार शाम को इसका ऐलान किया. असम में 3, केरल, पुडुचेरी और तमिलनाडु में सिंगल फेज में 6 अप्रैल को चुनाव होंगे. पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव होंगे. 2 मई को नतीजे आएंगे. असम और पश्चिम बंगाल में 27 मार्च को पहले चरण की वोटिंग होगी. बंगाल में 29 अप्रैल को आठवें और आखिरी चरण की वोटिंग होगी. पांचों राज्यों को मिलाकर कुल 824 विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होंगे। 18.6 करोड़ वोटर 2.7 लाख मतदान केंद्रों पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे.
चुनावी माहौल की बात करें तो पश्चिम बंगाल में राजनीतिक सरगर्मियां पहले से तेज हैं. राज्य में दो टर्म से लगातार सत्ता में बनी हुई तृणमूल कांग्रेस तीसरी बार भी सरकार बनाने के दावे कर रही है. वहीं केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी 2019 लोकसभा चुनाव के नतीजों को आधार बनाते हुए उत्साह से लबरेज है. बीजेपी की तरफ से लगातार दावा किया जा रहा है कि वो 294 सीटों की विधानसभा में 200 सीटें हासिल करेगी. इस बीत कई कद्दावर टीएमसी नेताओं ने बीजेपी का दामन थामा है.

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव कब-कब देखें इन आंकड़ों के जरिए 

असम में भी बीजेपी लगातार चुनावी कैंपेन कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह सहित बीजेपी के कई नेता इन चुनावी राज्यों में लगातार चुनावी जनसभा, रैलियां और रोड शो कर रहे हैं.

केरल में सिंगल फेज में 6 अप्रैल को चुनाव
12 मार्च से नामांकन. 22 मार्च तक पर्चा वापसी। 6 अप्रैल को वोटिंग.

-मलप्पुरम लोकसभा सीट के लिए भी 6 अप्रैल को वोटिंग.

चुनाव में कितने खर्च की इजाजत

चुनाव आयोग ने बताया कि पुडुचेरी में 22 लाख (प्रति सीट), बाकी चार राज्यों में प्रति सीट पर उम्मीदवार 30 लाख रुपये का खर्च कर सकता है. सुनील अरोड़ा ने बताया कि यह उनकी आखिरी प्रेस कॉन्फ्रेंस है. क्योंकि आने वाले दिनों में उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है.

एक घंटे ज्यादा डाले जाएंगे वोट, उम्मीदवारों के लिए निर्देश

वोट डालने का वक्त एक घंटे बढ़ा दिया गया है. ऐसा ही बिहार में किया गया था. नॉमिनेशन के दौरान उम्मीदवार के साथ सिर्फ दो लोग जा सकते हैं. नामांकन ऑनलाइन भी किया जा सकता है. जमानत राशि भी ऑनलाइन जमा की जा सकती है. उम्मीदवार के साथ 5 लोगों को घर-घर (डोट-टू-डोर कैंपेनिंग) जाने की इजाजत है. बताया गया कि चुनाव के लिए पांचों राज्यों में केंद्रीय बलों (पैरामिलिट्री फोर्स) की तैनाती होगी.

5 प्रदेशों की 824 विधानसभा सीटों पर चुनाव

सुनील अरोड़ा ने बताया कि कुल 18.68 करोड़ वोटर्स 2.7 लाख पोलिंग बूथ्स पर वोट डालेंगे. 5 प्रदेशों की 824 विधानसभा सीटों पर चुनाव होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here