नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में देश को संबोधित किया. एक तरफ पीएम मोदी रेडियो के माध्यम से देश को संबोधित कर रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ दिल्ली बॉर्डर पर किसान उनके संबोधन के दौरान थाली बजाकर इसका विरोध कर रहे थे. पीएम मोदी ने जैसे ही ‘मन की बात’ कार्यक्रम में बोलना शुरू किया तो वैसे ही किसानों ने ताली और थाली बजाकर पीएम के संबोधन का विरोध करना शुरू कर दिया.
नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने पहले ही ऐलान किया था कि वह पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात का विरोध करेंगे. किसानों ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी मन की बात रहे हैं, लेकिन हमारी बात कब करेंगे.
दिल्ली के शाहजहांपुर हाईवे और सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने मार्च निकाला. और थाली बजाई. किसान अलग-अलग बर्तन लिए हुए थे. कोई बोतल बजा रहा था. किसानों ने इस दौरान नारेबाजी भी की. किसानों ने मन की बात कार्यक्रम का इसी तरह विरोध किया. स्वराज इंडिया के योगेन्द्र यादव इसमें शामिल हुए. योगेंद्र यादव ने कहा कि मन की बात के शोर को दबाने के लिए हम थाली बजा रहे हैं.
आपको बता दें कि पीएम मोदी महीने के आखिरी रविवार को देश के लोगों को ‘मन की बात’ कार्यक्रम में संबोधित करते हैं। ये पीएम मोदी के इस कार्यक्रम का 72वां ऐपिसोड था और साथ ही ये इस साल का भी आखिरी मन की बात कार्यक्रम था। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहीं भी किसानों का जिक्र नहीं किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here