कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने गुरुवार को ‘रेल रोको आंदोलन’ का ऐलान किया है। किसानों ने घोषणा की है कि रेल रोको अभियान में किसी भी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी। बता दें कि पिछली बार जब किसानों ने चक्का जाम किया था तब उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड को इससे बाहर रखा गया था। उन्होंने बताया कि यह आंदोलन देशव्यापी होगा और सभी रेलवे लाइन ब्लॉक किए जाएंगे। दिल्ली आने वाले रेल रास्तों को भी रोका जाएगा। किसानों ने कहा है कि रेल रोको आंदोलन का मकसद कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए सरकार पर दबाव बनाना है। किसानों ने बताया है कि रेल रोको आंदोलन 18 फरवरी यानी कि गुरुवार को दोपहर 12 बजे से शुरू होगा और 4 बजे तक चलेगा। आइए, देखते हैं आंदोलन से जुड़े अब तक कुछ अपडेट्सः

जाब के फतेहगढ़ साहिब में किसान संगठनों ने रेल रोकी

पंजाब के फतेहगढ़ साहिब में किसान संगठनों ने रेल रोकी. कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसान संगठन रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं.

जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पटना में रोकी रेल

बिहार: किसानों के रेल रोको आंदोलन के आह्वान पर जन अधिकार पार्टी (JAP) के कार्यकर्ताओं ने पटना में रेल रोकी.

टिकरी बॉर्डर समेत इन मेट्रो स्टेशन के गेट बंद

टिकरी बॉर्डर, पंडित श्रीराम शर्मा, बहादुरगढ़ सिटी और ब्रिगेडियर होशियार सिंह मेट्रो स्टेशन के एंट्री-एग्जिट गेट को बंद कर दिया गया है.

अंबाला के शाहपुर में रेलवे ट्रैक के पास किसान हुए जमा

पूरे देश में किसानों ने रेल रोको आंदोलन के तहत रेलों को रोकने की तैयारी कर रखी है. अंबाला के शाहपुर में रेलवे ट्रैक के पास किसान संगठनों से जुड़े किसान जुटे हुए हैं. संगठनों ने कहा कि वो दोपहर 12:00 से लेकर शाम 4:00 बजे तक शांतिपूर्वक रेलवे ट्रैक जाम करेंगे. ये रेलवे ट्रैक काफी अहम है, क्योंकि इसी ट्रैक से दिल्ली से अंबाला होते हुए ट्रेनें पंजाब जम्मू और हिमाचल चंडीगढ़ के लिए निकलती हैं.

किसान मजदूर संघर्ष समिति के पंजाब प्रदेश अध्यक्ष सतनाम सिंह पन्नू, महांसचिव स्वर्ण सिंह पंधेर, जसबीर सिंह पिद्दी, गुरलाल सिंह पंडोरी रण सिंह ने कहा कि रेल रोको आंदोलन के तहत पंजाब के 11 जिलों में 32 स्थानों पर ट्रेन के पटरी पर किसान बैठेंगे.

दिल्ली-जयपुर हाइवे स्थित रेवाड़ी सीमा के साथ लगते जयसिंहपुर खेड़ा बॉर्डर पर बैठे किसानों ने फैसला किया है कि वे राजस्थान व हरियाणा सीमा स्थित अजरका रेलवे स्टेशन पर जाएंगे. वहां हरियाणा-राजस्थान के किसान दिल्ली-जयपुर रेलमार्ग को जाम करेंगे. इस दौरान कई ट्रेनें प्रभावित हो सकती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here