अयोध्या: बाबरी मस्जिद के पैरोकार रहे इकबाल अंसारी को राम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होने के लिए पहला इन्विटेशन कार्ड दिया गया है. इस पर इकबाल अंसारी ने कहा कि यह भगवान राम की इच्छा थी जो मुझे पहला निमंत्रण मिला. मैं इसे स्वीकार करता हूं. निमंत्रण पत्र पाकर अंसारी काफी खुश थे. उन्होंने कहा कि यह रामजी की ही इच्छा होगी कि मंदिर निर्माण का पहला आमंत्रण पत्र मुझे मिले. मैं इसे स्वीकार करता हूं.

आज से भूमि पूजन कार्यक्रम की शुरुआत हुई
5 अगस्त को होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन की तैयारियां का जायजा लेने सीएम योगी आज अयोध्या जाएंगे. बता दें कि आज से अयोध्या में गणपति पूजन के साथ ही भूमि पूजन कार्यक्रम की शुरुआत भी हो गई है. आज सुबह 9 बजे गणपति पूजन शुरू हो गया है जो 1 बजे तक चलेगा, जिसमें विघ्नहर्ता गणेश जी की पूजा कर शुभ कार्य की शुरुआत की गई है और इसमें 21 पुजारी शामिल हो रहे हैं. इसके बाद मंगलवार यानी कल रामर्चा पूजन होगा.

मोहन भागवत भी होंगे शामिल
बता दें कि 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा संघ प्रमुख मोहन भागवत विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद रहेंगे. कार्यक्रम के लिए सोमवार से कार्ड बंटना शुरू हो गया है. कार्ड पर निवेदक के रूप में नृत्यगोपाल दास का नाम लिखा है. इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का भी नाम छपा है.

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के बीच 5 अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी के हाथों से मंदिर निर्माण की पहली ईंट रखी जानी है. कार्यक्रम में चुनिंदा लोगों को ही बुलाया जा रहा है. इनमें बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी और अन्य मुस्लिम पक्षकार हाजी महबूब शामिल हैं. इकबाल अंसारी ने पहले भी कहा था कि भूमिपूजन में अगर उन्हें निमंत्रण दिया जाता है तो वह जरूर जाएंगे. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रामनामी पटका से स्वागत करने की इच्छा भी जताई है. इसके अलावा इकबाल अंसारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रामचरित मानस भेंट करने की इच्छा जताई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here