नई दिल्ली: केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलित किसानों के उग्र प्रदर्शन की वजह से Delhi NCR में मंगलवार को कई जगहों पर इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया, जोकि अब भी जारी है. कई लोगों ने सोशल मीडिया पर इंटरनेट बंद होने की जानकारी दी है. आंदोलन के दौरान किसी भी तरह की अफवाह न फैले और सबकुछ नियंत्रण में रहे इसलिए सरकार ने इस कदम को उठाया है. बुधवार को भी इंटरनेट सेवा बहाल नहीं की गई है इंटरनेट बंद होने की वजह से वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोगों और बच्चों को ऑनलाइन क्लास अटेंड करने में दिक्कत हो रही है.
इंटरनेट सेवा बंद हो जाने से बच्चों की ऑनलाइन कक्षाओं पर भी असर पड़ा है। कोरोना के मद्देनजर अभी स्कूल में दसवीं और बारहवीं के बच्चों को ही बुलाया जा रहा है. ऐसे में जो बच्चे स्कूल नहीं जा रहे वो घर से ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए पढ़ रहे हैं लेकिन इंटरनेट सेवा बाधित होने से ऑनलाइन कक्षाएं प्रभावित हो रही हैं और बच्चों को पढ़ाई करने में परेशानी हो रही है.
क्यों बंद हुआ था इंटरनेट?
दरअसल, किसान आंदोलन से जुड़े संगठनों ने गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर मार्च निकालने की बात कही थी, लेकिन बीते दिन हुआ ये मार्च हुड़दंग में बदल गया. दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में हुई हिंसा के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कुछ हिस्सों में मोबाइल इंटरनेट को बंद कर दिया . दिल्ली में सिंघु बॉर्डर, नांगलोई, टिकरी, मुकरबा और आसपास के कुछ इलाकों में मोबाइल इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया. ये बैन सिर्फ 24 घंटे के लिए लगाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here